दाऊदी बोहरा मुस्लिम समुदाय के 53वें धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से मुलाकात के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज इंदौर पहुंचे हैं.

शहर की सैफी मस्जिद में धर्मगुरु सैफुद्दीन के प्रवचन का कार्यक्रम है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को इंदौर में हज़रत इमाम हुसैन की यौमे शहादत ‘अशरा मुबारका’कार्यक्रम में हिस्सा लिया.

ये कार्यक्रम दाऊदी बोहरा मुस्लिम समुदाय के द्वारा आयोजित किया गया. प्रधानमंत्री के साथ बोहरा समुदाय के 53वें धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन भी मौजूद रहे.

बोहरा समाज के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब किसी प्रवचन कार्यक्रम में कोई प्रधानमंत्री शामिल हो रहा है. शिवराज सरकार ने सैफुद्दीन को राजकीय अतिथि का दर्जा दिया है.

सैफी मस्जिद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आप सभी के बीच में आना हमेशा मुझे प्रेरणा और एक नया अनुभव देता है! अशरा मुबारक, के इस पवित्र अवसर पर आपने मुझे बुलाया इसलिए आपका आभारी हूं. उन्होंने कहा कि बोहरा समाज ने हमेशा से शांति का पैगाम रहा है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि इमाम हुसैन हक और इंसाफ के लिए शहीद हो गए . मोदी जी ने कहा कि बोहरा समुदाय से हमारा पुराना नाता है,इससे पहले भी बहुत जगह इनका नाता सुनाई पड़ा था,
लगभग जगहों से रिश्तेदारी,नातेदारी की खबर आ चुकी है, लेकिन भाजपा को राम मंदिर के नाम पर वोट देने वाले अब भी इसी तलाश में हैं कि मोदी जी का मर्यादा पुरूषोत्तम से भी कभी कोई रिश्ता निकल आये। PM बनने के बाद से आजतक राम मंदिर के नाम पर वोट देने वाले इस इंतज़ार में हैं कि कभी मोदी जी अयोध्या आ जाएं लेकिन अफसोस मस्जिदों में टहलने का समय है इनके पास, मुस्लिम धर्मगुरुओं से मिलने का समय है इनके पास लेकिन अयोध्या आने के समय यह गायब हो जाते हैं।

मोदी जी का इंतज़ार बोहरा समाज के लिए बनारस भी कर रहा है जहां पर मोदी जी गंगा मां ने बुलाया था और मोदी वहां पहुंच कर बनारस को क्योटो बनाने का वादा किया था!

क्या बनारस और गंगा से मोदी जी का कोई रिश्ता नहीं है?मोदी जी का इंतेजार अयोध्या भी कर रहा है क्या मोदी जी का कोई रिश्ता अयोध्या और राम मंदिर से नहीं है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here